मौसी के साथ पहली चुदाई – Mausi Sex Stories In Hindi

Hinid Mausi Sex Stories – मेरा नाम ज़य है, मैं पुणे महाराष्ट्रा से हू, मेरी उमर 23 ईयर है, मैं एक एमएंके कंपनी मे जॉब करता हू, ये हिन्दी सेक्स स्टोरी सच्ची है, जो कुछ दीनो पहले 10 मार्च 2016 को ही हुई है.

हमारे घर मे ,मैं मेरा एक भाई और मोम- डॅड है, ये कहानी मेरे और मेरी मौसी( मेरे मा की छोटी सिस्टर) के बीच हुई है, मेरी मौसी की एज 34 ईयर है और वो शादी शुदा है, और वो दिखने मे थोड़ी च्यूबी टाइप है, मुझे थोड़ी हेल्ती लड़किया पसंद है.

एक दिन मेरी मौसी कुछ काम के लिए हमारे घर आई थी, मैं सुबह 11 बजे मौसी को स्टेशन लेने गया, मौसी को देखकर मैं खुश हो गया, मैं बहोत दीनो के बाद मैं मौसी को मिल रहा था, मौसी बोली तू बहोत बड़ा हो गया है.

फिर मौसी और मैं घर आगया, आते टाइम बाइक पे मौसी मेरे पीछे बैठ गयी, और मौसी की छोटी लड़की आगे बैठ गयी, मेरे घर और स्टेशन की दूरी 20 मिनट की थी, आते टाइम मौसी मुझसे बात करने के लिए चिपक के बैठी थी तो मौसी के बूब्स मुझे महसूस हो रहे थे, उससे मेरा खड़ा हो गया था.

फिर मौसी और मैं घर आ गये, फिर मैं बाहर चला गया, रात को सब खाना खा के सोने की तैइय्यारी कर रहे थे तब मैं घर पर पहुच, मैं बाहर से खाना खा के आया था.

हमारे घर मे एक हॉल और 2 बेडरूम्स है, एक मे मोम डॅड एंड दूसरे मे मैं और मेरा भाई सोता है, तब मोम डॅड अपने कमरे मे चले गये, मौसी की छोटी लड़की मेरी मा के साथ सोने चली गयी, मैं और मौसी मेरे कमरे मे आ गये.

फॉर्चुनेट्ली उस दिन मेरा भाई अपने दोस्तो के साथ मुंबई गया था इसलिए मुझे ही सुबह मौसी को लेने जाना पड़ा था, हम दोनो भाई एक ही बेड पे सोते है, तो मैं आके सो गया, मौसी आई बैठी, थोड़ी देर बाद मैं फिर मेरे मोम से बाते कर के चली गयी, तब तक मैं सो गया था.

More Sexy Stories रंडी लड़की को सबक सिखाया
मुझे पता भी नही चला मौसी कब आके सो गयी मेरे साइड मे, करीब 12: 30 बजे, मेरी नींद खुली, तब मैने देखा मेरी मौसी मेरे साइड मे सोई है, तो मैं बहोत खुश हो गया, मैने फिर धीरे से मौसी की साड़ी उठाने की कोशिश करने लगा.

गर्मी के दिन थे इसलिए मौसीने ब्लॅंकेट वगेरे कुछ लिया नही था, मैने मौसी की साड़ी कमर तक उपर कर ली, और मैं उनके नंगे गोरे बदन से खेलने लगा मैं उनके पैंटी के उपर से हाथ फिराने लगा, मेरी हिम्मत भढ़ गयी.

फिर मैने मौसी के ब्लाउस के उपर के 2 बटन खोल दिए, मैं अब मौसी के ब्लाउस मे हाथ डाल कर उनके बूब्स दबाने लगा, मैं एक हाथ से मौसी के बूब्स दबा रहा था और दूसरे हाथ से पैंटी के उपर से हाथ फेर रहा था.

मैने अब मौसी की पैंटी के अंदर हाथ डाला, मुझे उनके छोटे छोटे बाल महसूस हुए, अब मैने अपनी एक उंगली मौसी की चुत मे डाली, बहोत सॉफ्ट और गीला मुझे महसूस हुआ, मेरे उपर सेक्स का भूत सवार था.

मैने अब मौसी के ब्लाउस के सारे हुक खोल दिए, अब वो सिर्फ़ ब्रा मे थी., और उनकी साड़ी कमर तक उपर थी, मेरा लंड कड़क हो गया था, अब मैने ज़ोर से मौसी के बूब्स दबाना चालू कर दिया, थोड़ी देर मसलने के बाद मैने मौसी की पैंटी घुटनो तक नीचे ली अपने हाथो से, और मैं उंगली करने लगा.

मुझे बहोत डर भी लग रहा था, लेकिन मुझे समझ मे नही आरहा था इतना करने के बाद भी मौसी की नींद कैसे खुली नही थी, मुझे पता था मेरी मौसी की नींद बहोत गहरी थी

लेकिन मैने बहोत जोरसे उनके बूब्स दबाए थे और उंगली भी की थी, अभी तक हम साइड बाइ साइड सोए थे, पता नही मुझ मे कहा से इतनी हिम्मत आ गई, और मैं उठ के मौसी की टाँगो के उपर आके उनकी पुसी चाटने की कोशिश कर रहा था.

More Sexy Stories भाभी का प्यार बड़ा बेमिसाल
तभी मौसी हिली और मेरे सर को पकड़ के बोली ये मत कर बहोत गंदा है, मुझे समझ नही आ रहा था की मैं क्या बोलू, मैं 10 सेकेंड वैसे ही मौसी को देख ता रह गया.

फिर मौसी ने अपना हाथ मेरे तने हुए लंड पे रखा और बोली “आता बघतच बसनार आहेस की पुड़े काही करनार आहेस”(मुझे देखता ही रहे गा की या आगे भी कुछ करेगा”)

मेरे होश उड़ गये की मौसी क्या बोल रही है.

फिर मौसी बोली की” मला माहित आहे तुला माझ्या बरोबर करयाच आहे, मागच्या वेला घरी आला होता तेव्हा पन तू असच साड़ी वर करुन माझा अंगशी खेलट होता”( मुझे सब पता है की तुझे मेरे साथ करना है पिछली बार जब तुम घर आए थे तभी तुमने मेरी साड़ी उपर कर के मेरी बॉडी के साथ खेला था.)

तब मुझे याद आया की मैने 6 मंथ पहले मौसी के घर गया था तभी रात को मैने एसा ही किया था लेकिन उस टाइम मैने अपनी एक उंगली मौसी के चुत मे डाल के मैने अपना लंड हिलाया था, और सो गया था.

अभी भी मैं थोड़ा डॅरा हुआ लग रहा था, अब मौसी बोली “. घाबरू नकोस मी कोनाला नाही सान्गनार तुला जे करइचा आहे ते कर, आनी माला पन थोड़ा आनंद दे” (टेन्षन मत ले मैं किसिको कुछ नही बोलूँगी तू जो करना चाहता है कर ले, और मुझे भी थोड़ी खुशी दे)

फिर मैने हिम्मत कर के मौसी को किस करना स्टार्ट कर दिया, उनको लिटा के हम दोनो पॅशनेट्ली किस करने लगे, मैं पागलो की तरहा उन्हे किस कर रहा था, अब मैने उनके नेक पे किस किया और वो और भी गरम हो गई.

मेरा नाम ज़य है, मैं पुणे महाराष्ट्रा से हू, मेरी उमर 23 ईयर है, मैं एक एमएंके कंपनी मे जॉब करता हू, ये हिन्दी सेक्स स्टोरी सच्ची है, जो कुछ दीनो पहले 10 मार्च 2016 को ही हुई है.

हमारे घर मे ,मैं मेरा एक भाई और मोम- डॅड है, ये कहानी मेरे और मेरी मौसी( मेरे मा की छोटी सिस्टर) के बीच हुई है, मेरी मौसी की एज 34 ईयर है और वो शादी शुदा है, और वो दिखने मे थोड़ी च्यूबी टाइप है, मुझे थोड़ी हेल्ती लड़किया पसंद है.

एक दिन मेरी मौसी कुछ काम के लिए हमारे घर आई थी, मैं सुबह 11 बजे मौसी को स्टेशन लेने गया, मौसी को देखकर मैं खुश हो गया, मैं बहोत दीनो के बाद मैं मौसी को मिल रहा था, मौसी बोली तू बहोत बड़ा हो गया है.

फिर मौसी और मैं घर आगया, आते टाइम बाइक पे मौसी मेरे पीछे बैठ गयी, और मौसी की छोटी लड़की आगे बैठ गयी, मेरे घर और स्टेशन की दूरी 20 मिनट की थी, आते टाइम मौसी मुझसे बात करने के लिए चिपक के बैठी थी तो मौसी के बूब्स मुझे महसूस हो रहे थे, उससे मेरा खड़ा हो गया था.

फिर मौसी और मैं घर आ गये, फिर मैं बाहर चला गया, रात को सब खाना खा के सोने की तैइय्यारी कर रहे थे तब मैं घर पर पहुच, मैं बाहर से खाना खा के आया था.

हमारे घर मे एक हॉल और 2 बेडरूम्स है, एक मे मोम डॅड एंड दूसरे मे मैं और मेरा भाई सोता है, तब मोम डॅड अपने कमरे मे चले गये, मौसी की छोटी लड़की मेरी मा के साथ सोने चली गयी, मैं और मौसी मेरे कमरे मे आ गये.

फॉर्चुनेट्ली उस दिन मेरा भाई अपने दोस्तो के साथ मुंबई गया था इसलिए मुझे ही सुबह मौसी को लेने जाना पड़ा था, हम दोनो भाई एक ही बेड पे सोते है, तो मैं आके सो गया, मौसी आई बैठी, थोड़ी देर बाद मैं फिर मेरे मोम से बाते कर के चली गयी, तब तक मैं सो गया था.

More Sexy Stories रंडी लड़की को सबक सिखाया
मुझे पता भी नही चला मौसी कब आके सो गयी मेरे साइड मे, करीब 12: 30 बजे, मेरी नींद खुली, तब मैने देखा मेरी मौसी मेरे साइड मे सोई है, तो मैं बहोत खुश हो गया, मैने फिर धीरे से मौसी की साड़ी उठाने की कोशिश करने लगा.

गर्मी के दिन थे इसलिए मौसीने ब्लॅंकेट वगेरे कुछ लिया नही था, मैने मौसी की साड़ी कमर तक उपर कर ली, और मैं उनके नंगे गोरे बदन से खेलने लगा मैं उनके पैंटी के उपर से हाथ फिराने लगा, मेरी हिम्मत भढ़ गयी.

फिर मैने मौसी के ब्लाउस के उपर के 2 बटन खोल दिए, मैं अब मौसी के ब्लाउस मे हाथ डाल कर उनके बूब्स दबाने लगा, मैं एक हाथ से मौसी के बूब्स दबा रहा था और दूसरे हाथ से पैंटी के उपर से हाथ फेर रहा था.

मैने अब मौसी की पैंटी के अंदर हाथ डाला, मुझे उनके छोटे छोटे बाल महसूस हुए, अब मैने अपनी एक उंगली मौसी की चुत मे डाली, बहोत सॉफ्ट और गीला मुझे महसूस हुआ, मेरे उपर सेक्स का भूत सवार था.

मैने अब मौसी के ब्लाउस के सारे हुक खोल दिए, अब वो सिर्फ़ ब्रा मे थी., और उनकी साड़ी कमर तक उपर थी, मेरा लंड कड़क हो गया था, अब मैने ज़ोर से मौसी के बूब्स दबाना चालू कर दिया, थोड़ी देर मसलने के बाद मैने मौसी की पैंटी घुटनो तक नीचे ली अपने हाथो से, और मैं उंगली करने लगा.

मुझे बहोत डर भी लग रहा था, लेकिन मुझे समझ मे नही आरहा था इतना करने के बाद भी मौसी की नींद कैसे खुली नही थी, मुझे पता था मेरी मौसी की नींद बहोत गहरी थी

लेकिन मैने बहोत जोरसे उनके बूब्स दबाए थे और उंगली भी की थी, अभी तक हम साइड बाइ साइड सोए थे, पता नही मुझ मे कहा से इतनी हिम्मत आ गई, और मैं उठ के मौसी की टाँगो के उपर आके उनकी पुसी चाटने की कोशिश कर रहा था.

More Sexy Stories भाभी का प्यार बड़ा बेमिसाल
तभी मौसी हिली और मेरे सर को पकड़ के बोली ये मत कर बहोत गंदा है, मुझे समझ नही आ रहा था की मैं क्या बोलू, मैं 10 सेकेंड वैसे ही मौसी को देख ता रह गया.

फिर मौसी ने अपना हाथ मेरे तने हुए लंड पे रखा और बोली “आता बघतच बसनार आहेस की पुड़े काही करनार आहेस”(मुझे देखता ही रहे गा की या आगे भी कुछ करेगा”)

मेरे होश उड़ गये की मौसी क्या बोल रही है.

फिर मौसी बोली की” मला माहित आहे तुला माझ्या बरोबर करयाच आहे, मागच्या वेला घरी आला होता तेव्हा पन तू असच साड़ी वर करुन माझा अंगशी खेलट होता”( मुझे सब पता है की तुझे मेरे साथ करना है पिछली बार जब तुम घर आए थे तभी तुमने मेरी साड़ी उपर कर के मेरी बॉडी के साथ खेला था.)

तब मुझे याद आया की मैने 6 मंथ पहले मौसी के घर गया था तभी रात को मैने एसा ही किया था लेकिन उस टाइम मैने अपनी एक उंगली मौसी के चुत मे डाल के मैने अपना लंड हिलाया था, और सो गया था.

अभी भी मैं थोड़ा डॅरा हुआ लग रहा था, अब मौसी बोली “. घाबरू नकोस मी कोनाला नाही सान्गनार तुला जे करइचा आहे ते कर, आनी माला पन थोड़ा आनंद दे” (टेन्षन मत ले मैं किसिको कुछ नही बोलूँगी तू जो करना चाहता है कर ले, और मुझे भी थोड़ी खुशी दे)

फिर मैने हिम्मत कर के मौसी को किस करना स्टार्ट कर दिया, उनको लिटा के हम दोनो पॅशनेट्ली किस करने लगे, मैं पागलो की तरहा उन्हे किस कर रहा था, अब मैने उनके नेक पे किस किया और वो और भी गरम हो गई.



അമ്മയുടെ പൂറും എന്റെ കുണ്ണയുംland chokalaஉள்ளே விட்டு வேகமா ஓழுடா அண்ணாதங்கை நீச்சல் உடை tamil sex storiesஅபிராமி ஆன்டி செக்சு வீடியோदिदिची पुचीची कथाசித்தப்பா மடியில் சுமதிनात्यातील sexकथा in marathiపూకు దెంగుడు కథలుমা বিধবা কলকাতাই থাকিwww.kodalu mama degudu kathalu.comआत्या ला झवलोতানিয়ার জয়লাভ ৫/ಅತ್ತೆಯ ಮೊಲೆಅಮ್ಮ and ಮಗನ ಕಾಮ ಕತೆಗಳು in Kannadaஆய் காம கதைঅভাবে পরে চোদা খেলাম গল্পKeramaththu amma karpalipu kathai.comमाझा लंड तिची पुच्चि101sexstories com new sex stories telugu sex stories kamasastry telugu kathaluपपाने ममीला झवल मराठीsexmobelivetelugu lanjala kathalu in telugu scriptবাধ্য হয়ে মা নিজের ছেলে চটিzawawi Marathi kathasammar sex storकाकुची गांड फाडुन झवलोবাংলা কাকওল্ড সেক্স গলShoplo petti dengaru buthu kadhaluSex thamil ponuഅച്ഛന്റെ കറുത്ത കുണ്ണझवाझवी काकुने आईला सांगले मी भाभी जवलोప్రసాద్ రాశి విజయ్ ఓ భార్య దెంగుడు కధలుতোমাকে চুদা শেখাতে হবেaadivasi sex kata marathiদূর্গা পূজার গিয়ে চোদা দিলামVettil akkavai parthu kaiyadikum thambi xxx Bangla sex storysex story hindi mamisexy kaku musakan mahatiDidi ne mere nuni se kuch nikalaकामवाली ला झवले Xxx story मराठीत माहितीमावशि मामि जवाजवि काहानिमराठी गे संभोग कथाआंटी ला झवलेபுண்டைமுலைআমি কামুকি মহিলাবৌদি আর কাকিমাকে চোদার গল্পBangladesh স্বামী বিদেশ xxxxx videosগ্রুপ সেকস বাংলা চোদাচোদিஅத்தை ஓத்த மாமனார்அம்மா முலை பழம்काकू बरोबर Bayko chya maitrinila zavaleफाडून टाक माझी पुच्चीஅண்ணியை மயக்கத்தில் ஓல்গন্ধ চটিसुहाग रात्र झवाझवी तनु चिवाइफ अफेर xxx sexকাকওল্ড স্বামী দিল স্ত্রীর বিয়েमराठी झव झवि कथाWww xxx marahi गोष्टी बाईविवाहित.बहिणीला.झवलोசுமதி.காமகதை.xossip.நான்पपाने ममीला झवल मराठीमित्राच्या आईला लिफ्ट देऊन झवले सेक्स कथाbangla kochi cheler abdar ma k chudbemajya vahinichya bahinila zavloஅம்மா என் தம்பிக்கு மொலை பால் தரும் போது மகனின் காம கதைरियाने गांड मारून घेतलीబల సెక్స్ కథలు